--Advertisement--

नो निगेटिव: रूस में वर्ल्ड कप के दौरान मीडिया को 50 दिन तक अपराध की खबरें नहीं दिखाने का आदेश

मैच खेले जाने वाले शहरों में सुरक्षा के लिए आसपास के इलाकों से पुलिस जवानों की तैनाती की गई है।

Danik Bhaskar | Jun 16, 2018, 05:07 PM IST
21वें फुटबॉल वर्ल्ड कप की शुरुआ 21वें फुटबॉल वर्ल्ड कप की शुरुआ

सेंट पीटर्सबर्ग. फीफा वर्ल्ड कप के चलते रूस सरकार ने मीडिया को 50 दिन तक अपराध से जुड़ी खबरें नहीं दिखाने का आदेश दिया है। आंतरिक मंत्रालय की प्रेस सर्विस की ओर से कहा गया है कि पुलिस किसी अपराध को पकड़ने या मामला सुलझाने की खबर 25 जुलाई तक मीडिया को न दे। सिर्फ सकारात्मक खबर या सूचनाएं ही साझा की जाएं। माना जा रहा है कि इस आदेश के जरिए राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन रूस की अपराध मुक्त छवि बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

रूसी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 6 जून के बाद से किसी अपराधी को पकड़ने और मामला सुलझाने की खबरें मीडिया में नहीं आईं। सेंट्रल फेडरल डिस्ट्रिक्ट के एक कर्नल ने भी बताया कि उन्हें अपराध से जुड़ी खबरें, खोजी अभियान और सुरक्षा इंतजामों के बारे में सूचनाएं नहीं देने का आदेश मिला है।

सेंट पीटर्सबर्ग में मिसाइल लॉन्चर से सुरक्षा

आतंकी हमले से निपटने के लिए सेंट पीटर्सबर्ग में स्टेडियम के आसपास मिसाइल लॉन्चर और एंट्री ड्रोन जैमर लगाए गए हैं। पिछले साल इसी इलाके में विस्फोट हुआ था। वर्ल्ड कप के दौरान सुरक्षा के लिहाज से यूक्रेन से लगे समुद्र में भी अतिरिक्त युद्धपोत और सेना के विमान तैनात हैं। मैच खेले जाने वाले शहरों में सुरक्षा के लिए आसपास के इलाकों से पुलिस जवानों की तैनाती की गई है। वोल्गोग्राद स्टेडियम में सोमवार को इंग्लैंड और ट्यूनीशिया के बीच मैच खेला जाना है। इसके चलते सुरक्षा कड़ी की गई है। पुलिस ने आसपास के इलाकों में 131 नए सीसीटीवी लगाए हैं। पुलिसकर्मी 14 घंटे ड्यूटी कर रहे हैं। ये शहर 2014 के विंटर ओलिंपिक से पहले आत्मघाती हमला झेल चुका है। इस दौरान 34 लोग मारे गए थे।