• Home
  • International
  • स्पेन में गैंगरेप पीड़ित के समर्थन में विरोध, Spain protest after court decision on victim girl
--Advertisement--

लड़की की हंसती हुई फोटो देखकर कोर्ट ने सुनाया आदेश- पीड़ित के साथ नहीं हुआ गैंगरेप

हमारे देश में कई बार रेप के गुनहगार बरी हो जाते हैं तो आम जनता को बहुत गुस्सा आता है।

Danik Bhaskar | May 01, 2018, 03:42 PM IST

मैड्रिड. हमारे देश में कई बार रेप के गुनहगार बरी हो जाते हैं तो आम जनता का गुस्सा फूट पड़ता है। ऐसा ही हाल इन दिनों स्पेन में है। यहां पैम्पेलोना में हजारों लोग गैंगरेप पर कोर्ट के फैसले को लेकर आगबबूला हो गए हैं और प्रोटेस्ट कर रहे हैं। साल 2016 में बुल फेस्टिवल के दौरान 18 साल की एक लड़की से गैंगरेप करने वाले सभी पांच आरोपियों कोर्ट ने दोषी नहीं माना और उन्हें केस से बरी कर दिया है। कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए कहा है कि चूंकि गैंगरेप के बाद लड़की की आंख बंद थी और वो खामोश थी तो उसकी रेप में सहमति नजर आ रही है। क्या था पूरा मामला, जिसकी वजह से उबल पड़ा स्पेन...

- 2016 में बुल फेस्टिवल के दौरान 18 साल की लड़की के साथ पांच लोगों ने गैंगरेप किया। उसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया।
- करीब दो साल चले इस केस में कोर्ट के सामने वीडियो भी पेश किया गया। इसे देखने के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया।
- वीडियो में दिखाया गया कि लड़की आंखें बंद की हुई थी और पैसिव मोड में थी। वह हाथ-पैर भी नहीं मार रही थी। आरोपियों के वकील ने इसे कोर्ट में इस तरह पेश किया कि लड़की ग्रुप सेक्स में पार्ट ले रही थी।
- इसके अलावा आरोपियों ने गैंगरेप के बाद एक शख्स उसके पीछे लगा दिया था जो उसका पीछा करता था और उसके फोटो लेता था। लड़की जब कहीं पार्टी करती या अपने दोस्तों के साथ हंस-हंस बात करती तो उसे कैमरे में कैप्चर कर लेता था।
- वकील ने ये फोटोज कोर्ट में पेश करते हुए कहा है कि अगर गैंगरेप हुआ है तो ये लड़की इतना कैसे हंस सकती है। ये सारी बातें कोर्ट में आरोपियों के बरी हो जाने का आधार बनीं।

फिर कोर्ट ने क्या फैसला सुनाया
- चूंकि लड़की का पक्ष बेहद कमजोर कर दिया गया तो कोर्ट ने आरोपियों को गैंगरेप के आरोप से बरी कर दिया। लेकिन उन्हें यौन उत्पीड़न दोषी करार दिया गया।
- कोर्ट ने पांचों आरोपियों को नौ साल की सजा और 8-8 लाख रुपए का लड़की को मुआवजा देने का आदेश दिया। हालांकि पीड़ित के वकील ने 22 साल की सजा की मांग की थी।

फैसले के विरोध में स्पेन की सड़कों पर लोग
- घटना के बाद स्पेन के नेताओं में सेक्शुअल क्राइम पर कानून में बदलाव कर दिया है। फिलहाल कानून में रेप के पीड़ित को ये पुष्टि करवानी होती है कि आरोपी हिंसक हुआ था और डराने वाली हरकतें कर रहा था।
- पैम्पेलोना की सड़कों पर कोर्ट के फैसले का विरोध किया जा रहा है। एक ऑनलाइन पिटीशन दायर की गई है, जिसमें 12 लाख लोग साइन कर चुके हैं।