सिद्धू शांति के दूत, उन्हें निशाना बनाने वाले अमन की कोशिशों को नुकसान पहुंचा रहे: इमरान खान

DainikBhaskar.com | Aug 21,2018 17:03 PM IST

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने शपथग्रहण समारोह में आने के लिए मंगलवार को नवजोत सिंह सिद्धू का शुक्रिया अदा किया। अपने ट्वीट में इमरान ने कहा कि जो भी मेरे शपथग्रहण में आने के लिए सिद्धू की बुराई कर रहे हैं, वे उपमहाद्वीप में शांति को बड़ा नुकसान पहुंचा रहे हैं। बिना शांति के हमारे लोग आगे नहीं बढ़ सकते। एक और ट्वीट में इमरान ने कहा कि दोनों देशों को आगे बढ़ने के लिए अपने विवाद निपटाने होंगे जिनमें कश्मीर मुद्दा भी शामिल है।

इमरान चाहते हैं भारत-पाक क्रिकेट जल्द शुरू हो, नवाज समर्थित सेठी की जगह एहसान को बनाया पीसीबी चीफ

DainikBhaskar.com | Aug 21,2018 11:51 AM IST

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के चेयरमैन नजम सेठी के इस्तीफे के बाद प्रधानमंत्री इमरान खान ने एहसान मनी को यह जिम्मेदारी सौंपी है। मनी का कहना है कि इमरान भारत-पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट शुरू करने को लेकर बेहद उत्सुक हैं। आम चुनाव के दौरान सेठी और इमरान के रिश्तों में तल्खी देखी गई थी। सेठी पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के समर्थक माने जाते हैं। इमरान ने अपने ट्वीट में लिखा- मैंने एहसान मनी को पीसीबी प्रमुख के पद पर नियुक्त किया है। उनके पास इस काम के लिए काफी योग्यता है।

पाकिस्तान एक ही दिन में दावे से पलटा, कहा- इमरान को लिखी चिट्ठी में मोदी ने बातचीत की पेशकश नहीं की

DainikBhaskar.com | Aug 21,2018 11:35 AM IST

नई दिल्ली/इस्लामाबाद. पाकिस्तान एक दिन के भीतर ही अपने उस दावे से पलट गया, जिसमें कहा गया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाक प्रधानमंत्री इमरान खान को चिट्ठी लिखकर बातचीत की पेशकश की। पाक विदेश मंत्रालय ने सोमवार सुबह बातचीत की पेशकश का दावा किया था और शाम को कहा- नरेंद्र मोदी ने इमरान के साथ बातचीत का कोई प्रस्ताव नहीं दिया है। हमारे बयान को भारत में गलत तरीके से पेश किया गया।

पाक विपक्षी नेता ने कहा- प्रधानमंत्री जैसा नहीं था इमरान का भाषण; ऐसा लगा, जैसे लालू के चेले हों

DainikBhaskar.com | Aug 20,2018 22:07 PM IST

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के नेता सैयद खुर्शीद शाह ने देश के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री इमरान खान की तुलना राजद नेता लालू प्रसाद यादव से की। शाह ने कहा कि पद ग्रहण करने के बाद इमरान का भाषण कहीं से भी एक प्रधानमंत्री के स्तर का नहीं था। भाषण सुनकर ऐसा लगा कि जैसे इमरान भारत के नेता लालू को अपना गुरु मानते हैं।