--Advertisement--

मुंबई हमलों पर सुनवाई कर रही पाकिस्तान की एक कोर्ट ने गृह मंत्रालय को नोटिस जारी किया है। इसमें 24 भारतीय गवाहों को पेश करने के बारे में एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट पेश करने को कहा है।

2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमलों में 16 लोगों की जान चली गई थी।

Dainik Bhaskar

Jun 28, 2018, 09:35 PM IST
26/11 case Pak court issues notice to interior ministry to produce Indian witnesses

लाहौर. मुंबई हमले के मामले की सुनवाई कर रही पाकिस्तान की एक कोर्ट ने गृह मंत्रालय को नोटिस जारी किया। कोर्ट ने 24 भारतीय गवाहों की पेशी के लिए एक सप्ताह में रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया है। रावलपिंडी कोर्ट में 10 साल से इस मामले की सुनवाई चल रही है, लेकिन किसी भी आरोपी को सजा नहीं हुई। इससे यह स्पष्ट होता है कि ये केस पाकिस्तान की प्राथमिकता में नहीं है।

अभियोजन पक्ष के मुताबिक, जब तक भारत गवाहों को पाकिस्तान नहीं भेजता तब तक सुनवाई आगे नहीं बढ़ सकती। पाकिस्तान पहले ही गवाही के लिए भारत को लिख चुका है। भारत सरकार ने जवाब में कहा था, "पाकिस्तान पहले हमारे द्वारा भेजे गए सबूतों के आधार पर मुंबई हमलों के मास्टमाइंड हाफिज सईद के खिलाफ ट्रायल शुरू करे।" पाकिस्तान के सभी गवाह आरोपियों के खिलाफ सबूत पेश कर चुके हैं, लेकिन अदालत भारतीयों की गवाही पर जोर दे रही है।

हमले के आरोपी 6 आतंकी जेल में : 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमलों में 166 लोगों की मौत हुई थी। लश्कर-ए-तैयबा ने हमलों की जिम्मेदारी ली थी। आतंकी संगठन के 6 आतंकी अब्दुल वाजिद, एम इकबाल, हमद अमीन सादिक, शाहिद जमील रियाज, यूनुस अंजुम रावलपिंडी जेल में हैं। वहीं, जकीउर रहमान लखवी को 2015 में जमानत मिल गई थी। सातों आतंकियों पर हत्या, हत्या के प्रयास, आतंकी हमले की साजिश और हमला कराने के आरोप हैं।

X
26/11 case Pak court issues notice to interior ministry to produce Indian witnesses
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..