--Advertisement--

भारत की ड्रोन टेक्नोलॉजी से बढ़ी PAK की चिंता, कहा- अपनी ताकत बढ़ाकर क्षेत्र में तनाव बढ़ा रहा पड़ोसी

भारत की रक्षा संस्था डीआरडीओ ने हाल ही में देश में बने सबसे बड़े ड्रोन 'रुस्तम-2' का कामयाब टेस्ट किया।

Dainik Bhaskar

Feb 28, 2018, 08:31 PM IST
भारत ने हाल ही में देश में बनें एडवांस ड्रोन रूस्तम-2 का परीक्षण किया है। भारत ने हाल ही में देश में बनें एडवांस ड्रोन रूस्तम-2 का परीक्षण किया है।

इस्लामाबाद. पाकिस्तान ने भारत की एडवांस होती टेक्नोलॉजी पर चिंता जताई है। पाक के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने मीडिया ब्रीफिंग के दौरान कहा, “अगर मिलिट्री को ताकतवर बनाने के नजरिए से देखा जाए तो ड्रोन टेक्नोलॉजी में भारत की बढ़ती क्षमता परेशान करने वाली है। इससे क्षेत्र की कूटिनीतिक स्थिरता कम होगी और तनाव बढ़ेगा।” फैसल ने ये जवाब भारत में बनने वाले नए ड्रोन रूस्तम-2 के बारे में पूछे गए एक सवाल पर दिया। उन्होंने आगे कहा कि ड्रोन टेक्नोलॉजी यूनाइटेड नेशंस और इंटरनेशनल ह्यूमैनिटेरियन लॉ के नियमों के मुताबिक ही बनने चाहिए। बता दें कि रूस्तम-2 भारत का स्वदेशी ड्रोन होगा। इसे अमेरिका के प्रिडेटर ड्रोन की तर्ज पर तैयार किया जा रहा है।

पाकिस्तान में क्यों हैं रुस्तम का डर?
- डीआरडीओ ने रुस्तम को सैन्य मकसद के लिए तैयार किया है। इसका इस्तेमाल दुश्मन की टोह लेने, निगरानी रखने, टारगेट पर सटीक निशाना लगाने और सिग्नल इंटेलिजेंस में भी किया जाएगा।
- दूसरी ओर, सेना को अगले एक दशक में 400 आधुनिक ड्रोन की जरूरत होगी। इसमें कॉम्बैट और पनडुब्बी से लॉन्च किए जाने वाले रिमोट संचालित एयरक्रॉफ्ट शामिल हैं। फिलहाल सेना के पास 200 ड्रोन हैं। इनमें से अधिकांश लंबी दूरी और टारगेट पर नजर रखने वाले इजरायल से खरीदे गए हैं।

रुस्तम-2 की खासियतें
- मानवरहित विमान के डैने 21 मीटर तक लंबे हैं। वजन 1.8 टन है। इसकी स्पीड 225 kmph है।
- 350 किलो वजन के हथियारों के साथ एक बार में 24 घंटे तक उड़ान भरने में सक्षम है।
- इसमें सिंथेटिक अपर्चर रडार, मेरीटाइम पेट्रोल रडार और टक्कर रोधी प्रणाली लगाई गई है।
- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, साइंटिस्ट रुस्तम दमानिया के नाम पर इसे रुस्तम-2 नाम दिया गया।
- बता दें कि 80 के दशक में एविएशन सेक्टर में किए दमानिया की रिसर्च देश के लिए काफी काम आई।

PAK का झूठ- LoC पर हालात बिगाड़ रहा भारत

- भारत पर एक और आरोप लगाते हुए फैसल ने कहा कि भारत बॉर्डर पर सीजफायर ‌वॉयलेशन कर के क्षेत्र के हालात बिगाड़ने की कोशिश करता रहता है। हालांकि, पाक सेना भी भारत को जवाब देने से पीछे नहीं हटती।

भारतीय अधिकारियों के साथ मीटिंग तय नहीं
- अफगानिस्तान में भारतीय विदेश सचिव से मुलाकात और उनके पाक दौरे पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में फैसल ने कहा कि उन्हें अभी ऐसी किसी भी मुलाकात की जानकारी नहीं है और ना ही उन्हें इसकी जानकारी है कि भारतीय सचिव पाकिस्तान आ रहे हैं।
- हालांकि, उन्होंने बताया कि दोनों देशों के बीच मानसिक रूप से बीमार महिला कैदियों को छोड़ने पर सहमति बन सकती है। हालांकि अभी गृह मंत्रालय प्रस्ताव पर विचार कर रहा है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने भारत की बढ़ती ड्रोन टेक्नोलॉजी पर चिंता जताई। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने भारत की बढ़ती ड्रोन टेक्नोलॉजी पर चिंता जताई।
X
भारत ने हाल ही में देश में बनें एडवांस ड्रोन रूस्तम-2 का परीक्षण किया है।भारत ने हाल ही में देश में बनें एडवांस ड्रोन रूस्तम-2 का परीक्षण किया है।
पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने भारत की बढ़ती ड्रोन टेक्नोलॉजी पर चिंता जताई।पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने भारत की बढ़ती ड्रोन टेक्नोलॉजी पर चिंता जताई।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..