--Advertisement--

जिहादियों की मदद से अल्पसंख्यकों और सोशल वर्कर्स की हत्या कर रही है पाक सेना- एक्टिविस्ट का आरोप

पाक में अल्पसंख्यकों के लिए माहौल अच्छा नहीं है। यहां सभी धर्मों के लोग मुसीबत झेल रहे हैं।

Danik Bhaskar | Mar 22, 2018, 10:37 AM IST
नुसरत ने सेना पर आरोप लगाया है कि पाक सेना, एजेंसियां और आईएसआई धार्मिक उग्रवाद और कट्टरपंथ फैला रहीं हैं।-फाइल नुसरत ने सेना पर आरोप लगाया है कि पाक सेना, एजेंसियां और आईएसआई धार्मिक उग्रवाद और कट्टरपंथ फैला रहीं हैं।-फाइल

वॉशिंगटन. वॉशिंगटन बेस्ड पाकिस्तान के सामाजिक कार्यकर्ता नदीम नुसरत ने पाक सेना पर जिहादियों की मदद से अल्पसंख्यकों की हत्या कराने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि पिछले कुछ दशकों में सेना में कट्टरता बढ़ी है और सेना ने जिहादियों की मदद से अल्पसंख्यकों और एक्टिविस्टों पर हमले कराए हैं।

भारत-पाक सेना के रिश्ते हमेशा से खराब
- फ्री कराची अभियान के प्रवक्ता नदीम नुसरत ने कहा कि भारत के साथ पाक सेना के रिश्ते अच्छे नहीं रहे। ऐसे में अगर भविष्य में भारत और पाक के रिश्तों में सुधार होता है तो सेना को अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष करना होगा।
- नुसरत के मुताबिक, अगर पाक सेना देश की राजनीति में दखल देती रही तो दोनों देशों के बीच कभी समझौता नहीं होगा।

- नुसरत ने कहा कि अन्य देशों में सरकार पॉलिसी बनाती है और सब इसे ही मानते हैं। लेकिन पाक में इसके उलट सेना देश के नियम कानून तय करती है।

आंतकी गतिविधियों में हो रहा है पाक जमीन का इस्तेमाल
- नुसरत ने सेना पर आरोप लगाया है कि पाक सेना, एजेंसियां और आईएसआई धार्मिक उग्रवाद और कट्टरपंथ फैला रहीं हैं और उसे बढ़ावा दे रही हैं।
- ये संगठन पाक की जमीन का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए कर रहे हैं।
- यहां से बड़े आंतकी हमलों की साजिश रची जाती है और उन्हें अंजान दिया जाता है।

यूएन को जवाबदेही तय करनी होगी

- यूएन और दुनिया के अन्य शांति पसंद देशों को पाक पर उसके देश में चलाए जा रहे आतंकी संगठनों के लिए जवाबदेही तय करना चाहिए।

- पाक में अल्पसंख्यकों के लिए माहौल अच्छा नहीं है। यहां सभी धर्मों के लोग मुसीबत झेल रहे हैं।

- नुसरत के मुताबिक पाक में सकारात्मक बदलाव तब तक नहीं आ सकते हैं, जब तक पूरे देश के सिस्टम में बदलाव न हो।

नुसरत के मुताबिक, अगर पाक सेना देश की राजनीति में दखल देती रही तो दोनों देशों के बीच कभी समझौता नहीं होगा। नुसरत के मुताबिक, अगर पाक सेना देश की राजनीति में दखल देती रही तो दोनों देशों के बीच कभी समझौता नहीं होगा।