• Hindi News
  • World News In Hindi
  • Pakistan
  • Pakistani Hindu conversion in Islam, this video is Horrible Truth, पाकिस्तान में हिंदुओं पर जुल्म, धर्म परिवर्तन

हिंदुओं को मिटाने के लिए पाकिस्तान कर रहा ये काम, वीडियो में दिखा खौफनाक सच / हिंदुओं को मिटाने के लिए पाकिस्तान कर रहा ये काम, वीडियो में दिखा खौफनाक सच

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के मातली जिले में 25 मार्च को 500 हिंदुओं को जबरन मुसलमान बना दिया गया।

Mar 29, 2018, 05:52 PM IST

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के सिंध प्रांत के मातली जिले में 25 मार्च को 500 हिंदुओं को जबरन मुसलमान बना दिया गया। धर्म परिवर्तन का ये खेल खेला पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ की पार्टी ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग ने। मंच पर पीर मुख्तयार जान सरहदी, पीर सज्जाद जान सरहदी और पीर साकिब जान सरहदी ने कलमा पढ़ा और सामने खड़े 500 हिंदुओं को दोहराने के लिए कहा गया। उनके कलमा दोहराने के बाद उन्हें मुसलमान घोषित कर दिया गया। इस आयोजन पर कहा तो यही गया कि इन हिंदुओं ने अपनी मर्जी से धर्म बदला है लेकिन हकीकत कुछ और लगती है। इस धर्म परिवर्तन का एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें हिंदुओं के चेहरों पर लाचारी साफ दिखती है। इस वीडियो में मंच पर मौजूद लोगों की आवाज़ भी आ रही है...वो कह रहे हैं - 'अब मैं कलमा पढूंगा, तुम सब अलफाज दोहराओगे, तेज आवाज में, तेज आवाज में पढ़ो, कलमा पढ़कर तुम सब मुसलमान बन गए, मैं तुम सबको मुबारकबाद देता हूं, अल्लाह तुम्हें इस्लाम में कबूल फरमाए'

जिन हिंदुओं का धर्म परिवर्तन हुआ वो कौन हैं?
ये पांच सौ हिंदु भारत से पाकिस्तान लौटे हैं। सिंध प्रांत के ये हिंदु वहां अत्याचार से तंग आकर भारत आए थे लेकिन भारत में इन्हें पक्का वीजा नहीं मिला। मजबूरन इन्हें पाकिस्तान लौटना पड़ा लेकिन वहां जाते ही इनपर ये मुसीबत खड़ी हो गई। 25 मार्च को धर्मपरिवर्तन का ये क्रूर खेल खेला गया और उसके अगले दिन पाकिस्तान नेशनल असेंबली में हिंदू नेता लाल चंद माल्ही ने पाकिस्तान में हिंदुओं का दर्द कुछ तरह बयान किया. 'हमें हिंदू-हिंदू कहकर चिढ़ाते हैं। हम तो पाकिस्तानी हैं न तो फिर ये क्यों हमें पाकिस्तानी नहीं कहते।'

पाकिस्तान में ऐसे हो रहा हिंदुओं का सफाया
यहां सिस्टैमेटिक तरीके से हिंदुओं का सफाया किया जा रहा है। कभी इस देश की करीब एक चौथाई आबादी हिंदू थी, आज दो फीसदी भी नहीं है। 1947 में यहां 23 फीसदी हिंदू रहते थे...आज महज 1.6 फीसदी हैं...हिंदुओं के लिए यहां जिन्दगी का नाम मायूसी है, जीने का मतलब मुसीबत है। कई बार ये बात सुर्खियों में आई कि धर्म परिवर्तन के लिए हिंदुओं की लड़कियां घरों से दिनदहाड़े उठा ली गईं... 20 मार्च को संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में भी पाकिस्तान में हिंदुओं के साथ अत्याचार का मुद्दा उठा। वर्ल्ड सिंधी कांग्रेस की चेयरपर्सन रुबिना शेख ने बताया कि किस तरह से सिंध में हिंदुओं का जबरन धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना