--Advertisement--

PAK में कॉलेज पर आतंकी हमला, 12 की मौत; बुर्का पहने थे टेररिस्ट

तीन तालिबानी आतंकी एग्रीकल्चर ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट के कैम्पस में घुस आए और वहां फायरिंग शुरू कर दी।

Danik Bhaskar | Dec 01, 2017, 07:49 PM IST
पेशावर में आतंकी हमले के बाद पोजिशन लेते सिक्युरिटी फोर्सेस के जवान। पेशावर में आतंकी हमले के बाद पोजिशन लेते सिक्युरिटी फोर्सेस के जवान।

पेशावर (पाकिस्तान). तीन तालिबानी आतंकियों ने शुक्रवार की सुबह यहां एक एग्रीकल्चर कॉलेज पर हमला कर दिया। आतंकी एक ऑटो में आए थे और बुर्का पहने हुए थे। हमले में 12 लोग मारे गए। 30 से ज्यादा घायल हुए। इनमें 4 की हालत गंभीर बताई गई है। तीनों आतंकी भी मारे गए हैं। कैम्पस में घुसकर की अंधाधुंध फायरिंग...

- आतंकी सुबह पेशावर स्थित एग्रीकल्चर ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट (ATI) के कैम्पस में घुसे। वहां फायरिंग शुरू कर दी। कैम्पस में घुसने से पहले उन्होंने इंस्टीट्यूट के गेट पर खड़े गार्ड को गोली मारकर घायल कर दिया। इसी इंस्टीट्यूट के कैम्पस में एग्रीकल्चर स्टूडेंट्स का हॉस्टल भी है।
- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, हमले में 12 लोगों की मौत हुई। इनमें से कुछ स्टूडेंट्स हैं। तीन सिक्युरिटी अफसर भी मारे गए। 30 लोग घायल हुए। इनमें से 4 की हालत गंभीर बताई गई है। पाकिस्तानी सेना ने हमले के बारे में कोई बयान जारी नहीं किया।
- मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कैम्पस के अंदर दो बार बम धमाकों की आवाज भी सुनाई दी। लेकिन, इसकी पुष्टि नहीं की जा सकी।

हमले के वक्त कई स्टूडेंट इंस्टीट्यूट में थे
- खैबर-पख्तुनवा के इंस्पेक्टर जनरल सलाउद्दीन महसूद के मुताबिक, हमले के वक्त इंस्टीट्यूट में कई स्टूडेंट्स थे, लेकिन उनमें से ज्यादातर को निकाल लिया गया था।

पाकिस्तान तालिबान ने ली जिम्मेदारी
- इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान तालिबान ने ली। बता दें कि दिसंबर 2014 में पाकिस्तान तालिबान ने ही पेशावर के आर्मी स्कूल पर हमला किया था। इसमें 134 बच्चों और स्कूल स्टाफ की मौत हो गई थी।