• Home
  • World News
  • Pakistan News
  • Gujarat Election 2017: Incomplete Projects Can Be Roadblock For BJP, गुजरात इलेक्शन ताज़ा समाचार
--Advertisement--

सौराष्ट्र में BJP की राह मुश्किल कर सकती हैं अधूरी योजनाएं, GST और नोटबंदी

Gujarat Election 2017: Incomplete Projects Can Be Roadblock For BJP, गुजरात इलेक्शन ताज़ा समाचार, Gujarat Election 2017:

Danik Bhaskar | Mar 05, 2020, 06:10 PM IST

राजकोट. 2012 में सौराष्ट्र में बेहतरीन प्रदर्शन कर गुजरात में सरकार बनाने वाली बीजेपी इस बार परेशानी में घिरती दिखाई दे रही है। पिछले 5 सालों से अधूरी पड़ी योजनाएं, जीएसटी और नोटबंदी की वजह से इस बार बीजेपी की राह पिछले चुनावों के मुकाबले बेहद कठिन होने वाली है। बता दें कि, 182 सीटों वाली गुजरात असेंबली में 48 सीटें सौराष्ट्र से आती हैं। पिछले चुनाव में बीजेपी ने यहां से 32 सीटों पर जीत हासिल की थी।

अधूरे वादे अटका सकते हैं जीत में रोड़ा

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, अपोजिशन पार्टियों का आरोप है कि, सरकार इस क्षेत्र का विकास कराने में पूरी तरह नाकाम रही है, खासकर नहरों को जोड़ने और इरीगेशन के प्रोजेक्ट्स शुरू करने में।

- हालांकि, बीजेपी के सौराष्ट्र क्षेत्र के स्पोक्सपर्सन राजू ध्रुव ने इन आरोपों को खारिज किया है। उन्होंने कहा कि कई प्रोजेक्ट्स में तेजी से काम हो रहा है, वहीं कुछ पूरे होने की कगार पर हैं। सरकार को ये प्रोजेक्ट्स पूरे करने के लिए एक बार फिर बहुमत की जरूरत होगी।

दलितों के गुस्से का पड़ सकता है असर

- पिछले साल ऊना में कथित गौ-रक्षकों द्वारा दलित युवकों की पिटाई का वीडियो सामने आने के बाद सरकार को दलितों के गुस्से का सामना करना पड़ा था। इस मुद्दे ने पूरे देश में सुर्खियां बटोरी थीं।

- हालांकि, ध्रुव का कहना है कि बीजेपी ने हमेशा ही इस मामले की आलोचना की है और इस घटना का सरकार से कोई ताल्लुक नहीं है। चुनाव में भी इस मुद्दे का कोई असर नहीं दिखने वाला।

जीएसटी और नोटबंदी बढ़ा सकते हैं परेशानी
- नोटबंदी की कथित नाकामी और जीएसटी के चलते कई नागरिकों और कारोबारियों को परेशानी का सामना करना पड़ा है। ये दोनों ही मुद्दे बीजेपी के दो दशकों से ज्यादा के राज पर बुरा असर डाल सकते हैं।
- गुजरात में सेरेमिक टाइल्स का बिजनेस करने वाले रामेश्वर पटेल के मुताबिक, नोटबंदी और जीएसटी के चलते उनके बिजनेस पर काफी बुरा असर पड़ा था, क्योंकि उनके कई कामगार पेमेंट ना मिलने की वजह से अपने घर लौट गए थे।

- वहीं, राजकोट की रहने वाली कुसुमबेन भट का कहना है कि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद यहां काफी विकास हो सकता था, लेकिन अब वो बीजेपी के किसी भी वादे पर भरोसा नहीं कर सकतीं।

आरोप पर आरोप लगा रही कांग्रेस
- गुजरात कांग्रेस के सेक्रेटरी महेश राजपूत के मुताबिक, इस बार के चुनाव में बीजेपी संकट में नजर आ रही है।
- उन्होंने राज्य सरकार पर आरोप लगाया कि उसने अपनी पावर का गलत इस्तेमाल करके पाटीदार आंदोलन के दौरान हार्दिक पटेलतक को जेल में डाल दिया था।
- इसके अलावा, सौराष्ट्र के अधूरे पड़े प्रोजेक्ट्स और पानी की कमी जैसी परेशानियों को निपटाने में भी बीजेपी नाकाम रही है।