चीन में काम करने वाले कॉर्पोरेट वर्कर्स की LIFE, ऑफिस में रहते हैं 6 दिन, घर जाते हैं 1 दिन

ऑफिस ऐसी जगह होती है, जहां सिर्फ काम और काम होता है।

DainikBhaskar.com| Last Modified - May 01, 2018, 05:17 PM IST

1 of
मजदूर दिवस, चीन world labour day 2018, china modern corporate slaver, where employees work, eat and sleep

स्पेशल डेस्क. ऑफिस ऐसी जगह होती है, जहां सिर्फ काम और काम होता है। लेकिन क्या होगा, जब आप आॅफिस में ही सोने लगें, खाने लगें, नहाने लगें और घर न जाएं। अब आप कहेंगे ऐसा कौन सा ऑफिस है। वर्ल्ड लेबर डे पर आपको बताते हैं चीन में तेजी से खुले टेक स्टार्टअप के बारे में। जहां लोग ऑफिसेस में ज्यादा समय बिताते हैं। काम खत्म होने के बाद ऑफिस में सो जाते हैं, ताकि दोबारा अगले दिन लेट न होना पड़े।  कंपनियों ने भी इस बात को समझते हुए अपने इम्प्लॉई के लिए ऑफिस में बिस्तर लगा दिए हैं। ऑफिस में रहने लगे इम्प्लॉइज...

 

- गूपेल स्टार्ट-अप कंपनी के कॉ-फाउंडर सुई मेंग कहते हैं, यूएस की तुलना में चीनी इंटरनेट कंपनीज की ग्रॉथ बहुत फास्ट है।
- कंपनी के प्रोग्रामर्स लगातार काम करते हैं। इसलिए उन्हें लंचटाइम और रात 9 बजे के बाद सो जाने की इजाजत दी है।
- 'इसके लिए फ्लोर के चारों ओर बेड, सोफा, बीन बैग और कुर्सियां लगाई हैं।
- हालात इससे भी ज्यादा बुरे हो गए हैं कि कई इम्प्लॉइज वर्क वीक में ऑफिस में ही रहने लगे हैं। वे सिर्फ वीकेंड में घर जाते हैं।

- एक एचआर कंपनी के इम्प्लॉई लिउ झानयू काम खत्म होने के बाद कॉन्फ्रेंस रूम को बेडरूम बना लेते हैं।
- उन्होंने बताया, "बीजिंग के ईस्टर्न सबअर्ब से आने में मुझे एक घंटे से ज्यादा टाइम लग जाता है।"
- "हम लोग सुबह तीन बजे तक काम करते हैं और सुबह 8.30 बजे उठ जाते हैं। उसके बाद बाथरूम में नहा लेते हैं।
- "मैं अपने बच्चे को सिर्फ वीकेंड में मिलता हूं। जैसे ही घर जाता हूं, वह मुझ पर भेड़िये की तरह झपट पड़ता है।
- "मुझे खुद पर शर्म आती है। इसका मुझे पछतावा है।"
- लिउ के मुताबिक, "कई स्टार्ट-अप कंपनीज अपने वर्कर्स को काम के घंटों के हिसाब से सैलरी देने लगी हैं।"

 

न मौके और न गर्लफ्रेंड
- 28 साल का प्रोग्रामर झियांग शियांग सुबह तीन से चार बजे तक ऑफिस में रहता है।
- शियांग ने बताया, "उसकी कंपनी डेटा मैनेज करती है। मैं छोटे से कमरे से बाहर की दुनिया देखता हूं।"
- "मेरे पास अब कोई बेहतर मौके नहीं हैं और न ही गर्लफ्रेंड है।"
- उसने बताया कि ओवरटाइम बहुत आम बात है। लेकिन यहां हम अपनी पूरी लाइफ दांव पर लगा रहे हैं।

मजदूर दिवस, चीन world labour day 2018, china modern corporate slaver, where employees work, eat and sleep
मजदूर दिवस, चीन world labour day 2018, china modern corporate slaver, where employees work, eat and sleep
मजदूर दिवस, चीन world labour day 2018, china modern corporate slaver, where employees work, eat and sleep
मजदूर दिवस, चीन world labour day 2018, china modern corporate slaver, where employees work, eat and sleep
मजदूर दिवस, चीन world labour day 2018, china modern corporate slaver, where employees work, eat and sleep
मजदूर दिवस, चीन world labour day 2018, china modern corporate slaver, where employees work, eat and sleep
मजदूर दिवस, चीन world labour day 2018, china modern corporate slaver, where employees work, eat and sleep
मजदूर दिवस, चीन world labour day 2018, china modern corporate slaver, where employees work, eat and sleep
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now