महिला को चढ़ा दिया गलत ग्रुप का ब्लड, शरीर के कई अंग हुए खराब

नतीजा ये हुआ कि उसके फेफड़े और किडनी समेत कई बॉडी पार्ट्स ने काम करना बंद कर दिया और वो खुद वेंटिलेटर पर पहुंच गई।

dainikbhaskar.com| Last Modified - Jun 14, 2018, 04:53 PM IST

1 of
Hospital gives blood of wrong group to woman in Kolkata

 

  • कोलकाता के एक निजी अस्पताल में डॉक्टर्स की लापरवाही का मामला। 
  • सर्जरी के बाद महिला को चढ़ा दिया दूसरे ग्रुप का ब्लड।
  • फेफड़े और किडनी समेत कई बॉडी पार्ट्स ने काम करना बंद किया। 

 

कोलकाता. पश्चिम बंगाल में डॉक्टर्स की भयानक लापरवाही का मामला सामने आया है। यहां कोलकाता के कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल में बैशाखी नाम की महिला को दूसरे ग्रुप का ब्लड चढ़ा दिया गया। नतीजा ये हुआ कि उसके फेफड़े और किडनी समेत कई बॉडी पार्ट्स ने काम करना बंद कर दिया और वो  वेंटिलेटर पर पहुंच गई। महिला की फैमिली ने हॉस्पिटल के खिलाफ मेडिकल लापरवाही का केस दर्ज कराया है। साथ ही कार्रवाई की मांग करते हुए मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी को भी लेटर लिखा है।

 

- वर्ल्ड ब्लड डोनर डे (14 जून) पर आई ये खबर वाकई चौंकाने वाली है। बैशाखी के पति अभिजीत साहा ने बताया कि 5 जून को पेट दर्द की शिकायत के बाद उसे हॉस्पिटल लाया गया था। डॉक्टर्स ने कहा कि ये एक्टॉपिक प्रेग्नेंसी का मामला है और तुरंत ऑपरेशन करना पड़ेगा। 

- डॉक्टर्स ने कहा कि ऑपरेशन खतरनाक नहीं हैं और बैशाखी अगले दो दिन में ठीक हो जाएगी। इसके बाद उसे एडमिट किया गया और उसी दिन उसका ऑपरेशन किया गया।
- ऑपरेशन के बाद डॉक्टर्स ने कहा कि बैशाखी खतरे से बाहर है और उसे 7 जून को डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। इसके कुछ ही देर बाद डॉक्टर्स ने कहा कि उसके शरीर से काफी ब्लड निकल गया है इसलिए दो यूनिट ब्लड चढ़ानी पड़ेगी।
- अभिजीत ने बताया कि जब उन्होंने नर्स से पूछा कि बैशाखी को कौन से ग्रुप का ब्लड चढ़ाया जा रहा है। तो उसने AB+ ग्रुप का ब्लड चढ़ाने की बात कही, जबकि उनकी वाइफ का ब्लड ग्रुप A+ है।
- अभिजीत ने कहा ये सुनकर मुझे झटका लगा। मैंने जब गलत ग्रुप का ब्लड चढ़ाने की बात कही, तो स्टाफ मुझे यही तर्क देता रहा कि ये सब सेरोलॉजी रिपोर्ट के आधार पर किया जा रहा है। 
- अभिजीत ने बताया - ''ब्लड चढ़ाने के कुछ घंटों बाद ही इसके नतीजे दिखना शुरू हो गए थे। बैशाखी का यूरिन बैग गहरे लाल रंग के खून से भर गया था। स्टाफ को कई बार बुलाने के बाद भी किसी ने इस पर ध्यान नहीं दिया। 
- मैंने जब इस बारे में डॉक्टर्स से बात की तो उसने कहा कि ये सब नॉर्मल है, इसमें घबराने की कोई बात नहीं है। जबकि मैं अपनी वाइफ की हालत बिगड़ते साफ देख रहा था। काफी देर बार जब डॉक्टर विजिट पर आए तो उन्होंने कहा कि मरीज की हालत सीरियस है और उसे आईसीयू में शिफ्ट करना पड़ेगा। इसके बाद उसे वेंटिलेटर पर रख दिया गया। ''
- बैशाखी के पति ने आरोप लगाया है कि इस लापरवाही के बाद भी हॉस्पिटल ट्रीटमेंट के बजाय बार-बार सिर्फ बिल भरने की धमकी देता रहा। उसे धमकाया गया कि अगर उसने बिल नहीं चुकाया तो वो इलाज बंद कर देंगे, जबकि तब तक वो 2.5 लाख रुपए चुका चुका थे। 
- अभिजीत ने लापरवाही के इस मामले को लेकर बिधान नगर पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया है। वहीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भी लेटर लिखकर एक्शन लने की मांग की है। 

 

क्या कहना है हॉस्पिटल का?
अस्पताल का कहना है कि इस बात की जांच की जा रही है कि क्या वाकई में महिला को गलत ब्लड ग्रुप का खून चढ़ा दिया गया? हॉस्पिटल के चीफ ऑफ मेडिकल एंड एडमिन डॉ तीर्थांकर बागची ने कहा कि बेंगलुरु हेड ऑफिस की ओर से बनाई गई टीम के जरिए इस बात की भी जांच की जाएगी कि क्या महिला को गलत ग्रुप का ब्लड चढ़ाया गया। बैशाखी का इलाज कर रहे है डॉ. दीपांकर सरकार से बात की गई, तो उन्होंने कहा कि मरीज की हालत में काफी सुधार हो और हम उनके बेहतर होने की उम्मीद करते हैं।

Hospital gives blood of wrong group to woman in Kolkata
महिला की पति।
Hospital gives blood of wrong group to woman in Kolkata
इसी हॉस्पिटल में चढ़ाया गया गलत ग्रुप का ब्लड।
Hospital gives blood of wrong group to woman in Kolkata
बैशाखी अपने पति और बेटी के साथ।
prev
next
Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now