--Advertisement--

अमेरिका से टकराया तूफान फ्लोरेंस, कैरोलिना में अगले हफ्ते हो सकती है तूफानी बारिश

वैज्ञानिकों के अनुमान से एक दिन पहले ही फ्लोरेंस अमेरिका के पूर्वी तट तक पहुंचा

Danik Bhaskar | Sep 14, 2018, 04:03 PM IST

  • भारी बारिश और तेज हवाओं से 1 लाख घरों में पैदा हुआ बिजली संकट

वॉशिंगटन. तूफान फ्लोरेंस अमेरिका के पूर्वी तट पर पहुंच गया है। गुरुवार को तूफान की वजह से कैरोलिना में 150 किमी/घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं और बारिश की वजह से 1 लाख घर बिना बिजली के हैं। कैरोलिना में कुछ घंटों की बारिश से ही सड़कों पर जलजमाव की स्थिति पैदा हो गई। अमेरिकी वेबसाइट वेदरमॉडल्स के अनुमान के मुताबिक, अगले हफ्ते सिर्फ कैरोलिना में ही 38 लाख करोड़ लीटर तक पानी बरस सकता है।
नेशनल हरिकेन सेंटर का कहना है कि तूफान फ्लोरेंस की तीव्रता कम होकर कैटेगरी-2 के तूफान की हो गई है। हालांकि यह अभी भी खतरनाक और अप्रत्याशित बना हुआ है। माना जा रहा है कि यह जैसे अमेरिका के जमीनी इलाकों में बढ़ेगा भूस्खलन जैसी घटनाएं बढ़ जाएंगी। करीब 10 लाख लोगों को खराब स्थितियों के चलते सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है।

एक दिन पहले पहुंच गया तूफान: इससे पहले मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा था कि तूफान फ्लोरेंस की वजह से शुक्रवार को कैरोलिना के कुछ इलाकों में 40 इंच (1 मीटर) तक बारिश हो सकती है। हालांकि, तूफान एक दिन पहले ही यहां पहुंच गया। उत्तरी कैरोलिना के गवर्नर रे कूपर ने कहा कि सभी को चौकन्ना रहना चाहिए, क्योंकि यह ताकतवर तूफान कई लोगों की जान ले सकता है।

बाढ़ से उल्टा हो सकता है नदियों का बहाव: मौसम विज्ञानियों का कहना है कि अगर बारिश ऐसे ही जारी रही तो जमीन पर 4 मीटर (13 फीट) तक पानी भर सकता है। साथ ही बाढ़ की वजह से कई नदियों का बहाव भी उलटा हो सकता है, जिससे पानी शहर की सड़कों पर भर सकता है। हालांकि, तूफान के शनिवार तक कमजोर पड़ने के आसार हैं।


हरिकेन फ्लोरेंस के कैरोलिना से टकराते ही कई इलाकों में सड़कों पर बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई। हरिकेन फ्लोरेंस के कैरोलिना से टकराते ही कई इलाकों में सड़कों पर बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई।