अमेरिकी ग्रीन कार्ड का इंतजार कर रहे विदेशियों में सबसे ज्यादा तीन-चौथाई भारतीय: रिपोर्ट

ग्रीन कार्ड से अप्रवासियों को अमेरिका में वैध स्थायी निवासी का दर्जा मिल जाता है।

DainikBhaskar.com| Last Modified - Jun 07, 2018, 03:53 PM IST

1 of
More than three-fourths of green card waiting list comprise of Indians
भारतीयों के बाद अमेरिकी ग्रीन कार्ड की सबसे ज्यादा मांग चीनी नागरिकों के बीच है। (फाइल)

  • भारतीयों के बाद सबसे ज्यादा चीनी नागरिक ग्रीन कार्ड के इंतजार में हैं
  • ग्रीन कार्ड धारकों को अमेरिका के वैध स्थायी निवासी का दर्जा मिल जाता है

 

 

वॉशिंगटन.    भारतीय हाई-स्किल्ड प्रोफेशनल्स के बीच ग्रीन कार्ड पाने की सबसे ज्यादा होड़ है। अमेरिकी नागरिकता एवं आव्रजन सेवाओं की ओर से जारी आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, ग्रीन कार्ड हासिल करने के लिए कतार में शामिल लोगों में से करीब तीन-चौथाई लोग भारतीय हैं। रिपोर्ट में बताया गया है कि मई 2018 तक ग्रीन कार्ड का इंतजार करने वाले कुल 3,95,025 विदेशी नागरिकों में से 3,06,601 भारतीय हैं। इसके बाद नंबर आता है चीन का जिसके कुल 67,031 नागरिक इसके इंतजार में हैं। बता दें कि अमेरिका में ग्रीन कार्ड पाने वालों को वैध तौर पर स्थायी निवासी का दर्जा मिल जाता है। इसी लिए अमेरिका में अस्थायी तौर पर काम करने वालों के बीच इसकी मांग ज्यादा है।  

 

ग्रीन कार्ड को लेकर कड़ा है अमेरिकी कानून
- अमेरिका में मौजूदा कानून के तहत एक वित्तीय वर्ष में किसी भी देश के सिर्फ 7% लोगों को ही ग्रीन कार्ड दिया जा सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक, इस कोटे की वजह से अप्रवासी भारतीयों को ग्रीन कार्ड हासिल करने के लिए 70 साल तक इसका इंतजार करना पड़ सकता है। 
- वहीं, अमेरिका के जीसी रिफार्म्स समूह की वेबसाइट के मुताबिक, अमेरिकी कानून के तहत सभी भारतीयों को स्थायी नागरिकता मिलने में 25 सालों से लेकर 92 सालों तक का समय लग सकता है। 
- अमेरिका की मौजूदा आव्रजन नीतियों का सबसे खराब असर उन भारतीय-अमेरिकियों पर पड़ रहा है, जो काम के लिए एच-1बी वीजा पर अमेरिका पहुंचते हैं। इसी लिए ज्यादातर हाई-स्किल्ड वर्कर्स आमतौर पर ग्रीन कार्ड की होड़ में रहते हैं। 

 

किस देश के कितने नागरिक कर रहे ग्रीन कार्ड का इंतजार?
- आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, भारतीयों के बाद सबसे ज्यादा चीनी नागरिक ग्रीन कार्ड के इंतजार में हैं। हालांकि, बाकी देशों की बात की जाए तो किसी का भी आंकड़ा 10 हजार के पास नहीं पहुंचता। अल साल्वाडोर के 7252, ग्वाटेमाला के 6027, होंडुरास के 5402, फिलीपींस के 1491, मेक्सिको के 700 और वियतनाम के 521 लोग ही इस कतार में शामिल हैं। 

 

क्या होता है ग्रीन कार्ड का फायदा?
- ग्रीन कार्ड धारकों को अमेरिका के वैध स्थायी निवासी का दर्जा मिल जाता है। इसके जरिए कोई भी शख्स वैध तौर पर अमेरिका में रह और काम कर सकता है। ये नागरिकता पाने का पहला कदम है। 

More than three-fourths of green card waiting list comprise of Indians
एच-1बी वीजा कार्ड धारक अमेरिका में अपनी योग्यता के आधार पर ग्रीन कार्ड के लिए आवेदन करते हैं। (फाइल)
prev
next
Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now