विदेश

--Advertisement--

9/11 हमले के दो साल पहले ओसामा को मिला था आइडिया, जिसके बाद 18 आतंकियों ने हाईजैक किए 4 विमान, फिर 57 देशों के 3000 लोगों को मार डाला

लादेन को ऐसे मिला बिल्डिंग पर प्लेन गिराने का आइडिया।

Danik Bhaskar

Sep 11, 2018, 02:35 PM IST

इंटरनेशनल डेस्क. आज अमेरिका पर हुए हमले (9/11) की 17वीं एनिवर्सरी है। इस मौके पर बताते हैं कि आखिर अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन को बिल्डिंग पर प्लेन गिराने का आइडिया कहां से आया। बता दें, कि इस आतंकी हमले में करीब 3000 लोगों की जान गई थी।


पायलट से मिला था आइडिया : 'द यरूशलेम पोस्ट' के मुताबिक, 1999 में गामिल अल-बतौती नामक पायलट ने इजिप्ट एयर के एक विमान को समुद्र में गिरा दिया था। यह विमान लॉस एंजिलिस से काहिरा जा रहा था। हादसे में पायलट गामिल समेत 217 यात्री मारे गए थे, जिसमें 100 अमेरिकी नागरिक भी थे। लादेन ने जब इस घटना के बारे में सुना तो उसके दिमाग में फौरन ये आइडिया आया कि क्यों न विमान को किसी इमारत पर क्रैश करवा दिया जाए?

- इसके बाद उसने इसी तरह की साजिश पर काम करना शुरू कर दिया और दो साल बाद 2001 में अमेरिका के ही प्लेन हाइजैक कर उसी की सरजमीं पर सबसे बड़े आतंकी हमले को अंजाम दिया।

अपनी कंपनी से नाराज था गामिल : गामिल के बारे में अलकायदा की वीकली मैग्जीन 'अल-मसराह' में एक आर्टिकल पब्लिश हुआ। इसके मुताबिक 59 साल का गामिल एक अनुभवी पायलट था। 31 अक्टूबर 1999 को वह लॉस एंजिलिस से काहिरा के लिए उड़ा था। शुरू में इस विमान के गिरने को आतंकी साजिश माना गया, लेकिन बाद में खुलासा हुआ कि कंपनी से नाराज होकर गामिल ने विमान को समुद्र में गिराया था।

गामिल ने प्लेन की फ्लाइट सेटिंग में किया हेरफेर : दरअसल गामिल के खिलाफ डिपार्टमेंटल जांच चल रही थी और उस पर विमान उड़ाने को लेकर प्रतिबंध भी लगने वाला था। फ्लाइट रिकॉर्डर से पता चला था कि प्लेन के टेकऑफ होते ही गामिल ने फ्लाइट सेटिंग में हेरफेर किया था, जिससे प्लेन समुद्र में गिर गया था। प्लेन क्रैश होने से पहले वह जोर-जोर से कह कह रहा था- 'मुझे खुदा पर यकीन है'। वैसे, इजिप्ट सरकार की जांच में यह बात सामने आई कि गामिल धार्मिक था और वह आत्महत्या जैसा कदम नहीं उठा सकता।

18 आतंकियों ने हाईजैक किए थे 4 विमान : 9/11 हमले में 3000 लोग मारे गए थे और मरने वालों में 57 देशों के लोग शामिल थे। इसे अंजाम देने के लिए अलकायदा के 18 आतंकियों ने चार विमानों को हाईजैक किया था।

- दो विमानों को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर जबकि एक विमान को पेंटागन पर गिराया गया था। वहीं चौथा विमान मैदान में गिरा था, क्योंकि इसके यात्रियों ने आतंकियों से झगड़ा किया था।

- हालांकि मई, 2011 में ओसामा बिन लादेन का खात्मा कर अमेरिका ने हजारों अमेरिकी और विदेशी नागरिकों की मौत का बदला ले लिया था।

Click to listen..