अमेरिका में नियम तोड़ने वाले विदेशी छात्रों पर लग सकता है 10 साल का बैन, स्टूडेंट पॉलिसी और सख्त हुई

एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में 1.86 लाख भारतीय छात्र

DainikBhaskar.com| Last Modified - Aug 11, 2018, 12:42 PM IST

US make tougher policy for international students about two lakhs Indian face strict rules
अमेरिका में नियम तोड़ने वाले विदेशी छात्रों पर लग सकता है 10 साल का बैन, स्टूडेंट पॉलिसी और सख्त हुई

 

वॉशिंगटन. अमेरिका ने दूसरे देशों के छात्रों के लिए पॉलिसी सख्त कर दी है। स्टूडेंट स्टेटस का उल्लंघन करने के अगले ही दिन से छात्र और उनके परिजनों की अमेरिका में मौजूदगी गैरकानूनी मानी जाएगी, भले ही वीजा अवधि खत्म नहीं हुई हो। नए प्रावधान 9 अगस्त से लागू हो गए।

इससे पहले नियम यह था कि जिस दिन दोष साबित होता या फिर आप्रवासी मामलों का जज आदेश जारी करता था, उस दिन से अमेरिका में रहना अवैध माना जाता था। नई नीति के मुताबिक 180 दिन तक अनाधिकृत रूप से रहने वालों की अमेरिका में फिर से एंट्री पर 10 साल की रोक लगाई जा सकती है। कोई छात्र संस्थान में पूरा समय नहीं देगा तो यह स्टूडेंट स्टेटस के नियमों का उल्लंघन माना जाएगा। पढ़ाई पूरी होने पर मिलने वाले ग्रेस पीरियड से ज्यादा अमेरिका में रुकने या अनाधिकृत रूप से नौकरी करने पर भी कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है। 

अमेरिका में 1.86 लाख भारतीय छात्र : अमेरिका में चीन के बाद सबसे ज्यादा संख्या भारतीय छात्रों की है। 2017 की ओपन डोर रिपोर्ट के मुताबिक भारत के 1.86 लाख छात्र अमेरिका में पढ़ाई कर रहे हैं। अमेरिका के आंतरिक सुरक्षा विभाग की रिपोर्ट में बुधवार को सामने आया कि पिछले साल 1,27,435 भारतीय छात्र अमेरिका पहुंचे। इनमें से 4,400 छात्र वीजा अवधि खत्म होने के बाद भी वहां रुके रहे। कुल 21 हजार से ज्यादा भारतीय नागरिक तय समय पूरा होने के बाद भी अमेरिका में रुके।

 

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now