ये प्रैक्टिस जरूरी है

फ्रेंडली पेरेंट बनने के फायदे

बच्चों को हर बात पर ज्ञान देने के बजाय उन्हें
अपने व्यवहार से अच्छी आदतें सिखाएं।

झूठ न बोलें, चीजें अस्त-व्यस्त न रखें, बातों से
ज्यादा बच्चे पेरेंट्स को  देखकर सीखते हैं।

गलतियां न गिनाएं, इससे बच्चों का आत्मविश्वास
कम होता है, वे खुद को कमजोर समझने लगते हैं।

बच्चे की क्रिएटिविटी बढ़ाने के लिए उसे नई
चीजें सिखाएं, जैसे- पेंटिंग, प्लांटिग आदि।

अपने बच्चे की तुलना दूसरे बच्चों से न करें।
ऐसा करने से उसका आत्मविश्वास कम होगा।

गलती करने पर गुस्सा करने, डांटने या पीटने की
बजाय प्यार से समझाएं, बच्चे जल्दी समझेंगे।

लाइफ & स्टाइल स्टोरीज
के लिए क्लिक करें

Click Here