पूजा से प्रसन्न करें काल भैरव को 

कालाष्टमी कब है? जानें मुहूर्त 

कालाष्टमी 16 नवंबर 2022, बुधवार
को है। यह हर माह कृष्ण पक्ष की अष्टमी
तिथि को मनाई जाती है।

काल भैरव जयंती की शुरुआत 16 नवंबर की
सुबह 5 बजकर 59 मिनट से होगी। समापन
17 नवंबर सुबह 7 बजकर 57 मिनट पर होगा।

कालाष्टमी के दिन काल भैरव को प्रसन्न करने के
लिए पूजा-अर्चना करें। पौराणिक मान्यताओं के
अनुसार, काल भैरव भगवान शिव का रौद्र रूप हैं। 

काल भैरव की पूजा से सभी प्रकार
के भय, रोग और कष्टों से मुक्ति मिलती है।
नकारात्मकता मिटती है। 

कालाष्टमी के दिन काल भैरव, भगवान
शिव और दुर्गा मां की पूजा करें। 

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here