पीपल और पितरों की पूजा से मिलेगा पुण्य 

कृष्ण भक्ति का
महीना है 'अगहन'

मार्गशीर्ष यानी अगहन मास के कृष्ण
पक्ष की अमावस्या 23 नवंबर को है। पौराणिक मान्यता के अनुसार, इस दिन पवित्र नदी में स्नान
कर दान करने से पुण्य फल मिलता है।

धार्मिक मान्यता है कि अमावस्या पर
श्राद्ध करने से पितरों को संतुष्टि मिलती है।
पितरों का तर्पण, श्राद्ध करने से दोष मिटते हैं।

पुराणों के अनुसार, मार्गशीर्ष मास
भगवान श्री कृष्ण के प्रिय महीनों में एक
माना जाता है। इसलिए इस दिन श्रीकृष्ण
की पूजा करने का भी महत्व है।

पंचांग के मुताबिक, अगहन महीने
की अमावस्या 23 नवंबर, बुधवार को
सुबह 06.50 से शुरू होगी जो अगले दिन
(24 नवंबर) सुबह 04.26 तक रहेगी।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here