मां-बच्चे को
मौत से बचाने वाला
डिवाइस

Health

अलवर के रहने वाले 33 साल के
अरुण अग्रवाल ने प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए
'जनित्री' नाम से सेंसर मोबाइल डिवाइस बनाया है।

'जनित्री' डिवाइस मां और गर्भ में पल रहे
बच्चे की हेल्थ की मॉनिटरिंग करेगा और
सभी मेडिकल रिपोर्ट्स मोबाइल के जरिए
संबंधित डॉक्टर तक पहुंचाएगा। 

डॉक्टर्स हर समय मां और बच्चे की हेल्थ
मॉनिटर कर सकेंगे। अरुण का दावा है कि इस
डिवाइस से अब तक 2 हजार से ज्यादा प्रेग्नेंट
महिलाओं की जान बचाने में मदद मिली है।

हाल ही में अरुण अपने स्टार्टअप
प्रोजेक्ट 'जनित्री' को लेकर रियलिटी शो
‘शार्क टैंक इंडिया’ में भी पहुंचे थे। शो में इनके
इस डिवाइस को काफी पसंद किया गया।

अरुण को इन्वेस्टमेंट डील देने
को लेकर शो की जज नमिता थापर
की दूसरे दो जज पीयूष बंसल और
अमित जैन से भिड़ंत भी हो गई।

बाद में अरुण की नमिता थापर
के साथ 2.5 प्रतिशत इक्विटी पर
एक करोड़ रुपए में डील फाइनल हो गई।

भास्कर से बातचीत में अरुण ने
बताया कि इस डिवाइस को बनाने से
पहले उन्होंने करीब 6 साल तक हॉस्पिटल्स
में रिसर्च की और वहां समय बिताया। 

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here