कार्डियक अरेस्ट
और हार्ट अटैक
में है अंतर

Health

बॉलीवुड एक्टर सतीश कौशिक की
66 साल की उम्र में कार्डियक अरेस्ट से मौत
हो गई है। आजकल कम उम्र के लोगों में भी
हार्ट से संबंधित मामले देखे जा रहे हैं।

डरावनी बात है कि कार्डियक अरेस्ट
में दिल की धड़कन काम करना बंद कर देती है
और तुरंत इलाज न मिले तो मौत हो जाती है।

कई लोग हार्ट अटैक और कार्डियक
अरेस्ट के बीच कन्फ्यूज रहते हैं। आपको
बताते हैं कि दोनों में क्या फर्क है।

जब इंसान के दिल की धड़कन
रुक जाती है और शरीर के बाकी हिस्सों
तक खून की पूर्ति नहीं हो पाती, तो इसे
कार्डियक अरेस्ट कहा जाता है।

कार्डियक अरेस्ट कभी भी किसी
को भी हो सकता है। कई बार हार्ट अटैक
भी इसका एक कारण हो सकता है। 

कार्डियक अरेस्ट से हार्ट अटैक
काफी अलग है और कार्डियक अरेस्ट
से कम खतरनाक है। 

जब दिल तक खून पहुंचाने वाली आर्टरी
100 फीसदी ब्लॉक हो जाती हैं, उस स्थिति
में इंसान को हार्ट अटैक आता है।

हार्ट अटैक आने से पहले कई तरह के लक्षण
नजर आते हैं। इनमें सीने में दर्द या सीने में भारीपन
महसूस होना, सांस फूलना, पसीना आना या
उल्टी होना जैसे लक्षण शामिल हैं।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here