सर्दियों में रहें हर बीमारी से दूर 

शहद में गार्लिक डुबोकर खाएं

हनी-गार्लिक का कॉम्बिनेशन
बॉडी को डिटॉक्सीफाई कर कई तरह
के इंफेक्शन से बचाता है।

शहद की बोतल में छिले हुए लहसुन
की कलियां डालें. हर सुबह खाली पेट एक
लहसुन की कली खाएं। मेटाबॉलिज्म बूस्ट
होगा और तेजी से वेटलॉस होगा।

शहद और लहसुन के एंटीइंफ्लेमेटरी
गुण सर्दी-जुकाम के साथ साइनस,
अस्थमा की तकलीफ में भी राहत देते हैं। 

डेली डाइट में हनी-गार्लिक शामिल करने
से आर्टरी में जमा फैट बाहर निकलता है,
ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है और
दिल की सेहत सुधरती है।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here