सालभर पीरियड्स न
आना यानी मेनोपॉज

Health

महिलाओं को 47 से 49 उम्र के बाद कभी भी
 मेनोपॉज दस्तक दे सकते हैं। अगर 1 साल तक पीरियड्स नहीं आएं तो मेनोपॉज माना जाता है।

मेनोपॉज में ओवरी काम करना करना बंद कर
 देती हैं जिससे एस्ट्रोजन हॉर्मोन बनना बंद हो जाता
है। इन्हीं हॉर्मोंस से हर महीने पीरियड्स आते हैं।

मेनोपॉज में महिला को हॉट फ्लैशेज होते हैं। चिड़चिड़ापन, चीजें भूलना, स्किन ड्राईनेस, बालों
का पतला होना, वजाइनल ड्राइनेस, एंग्जाइटी
और डिप्रेशन आम बात है।

मेनोपॉज के दौरान हॉट फ्लैशेज यानी अचानक
 गर्मी लगती है। ऐसे में हल्के रंग के कॉटन
के कपड़े पहनें और खूब पानी पीएं।

इस दौरान रोज का कैलोरी इनटेक 400 से
 600 तक ही रखें। इससे वजन कंट्रोल रहेगा।
 साथ ही वॉक, योग या एक्सरसाइज जरूर करें।

12 महीने से पीरियड नहीं हुए हो तो Anti-
Mullerian Hormone (AMH) Test होता है।

अगर किसी महिला को जानना है कि उनका
 मेनोपॉज कब होगा तो वह अपनी मां या
बड़ी बहन से उनकी मेनोपॉज की उम्र पूछ
सकती हैं क्योंकि मेनोपॉज जेनेटिक होते हैं।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here