महिलाएं ज्यादा शिकार 

सिर के आधे हिस्से में दर्द
यानी माइग्रेन

दुनिया में 130 करोड़ लोग माइग्रेन के शिकार हैं।
इनमें से 60% प्रतिशत मरीज महिलाएं हैं।

माइग्रेन में सिर के आधे हिस्से में दर्द होता है। कुछ
लोगों का जी मचलाता है, उल्टी भी हो सकती है।

माइग्रेन एक न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर है।
इसकी कई स्टेज होती हैं। महीने में 2-3 बार
सिरदर्द हो तो यह एपिसोडिक माइग्रेन है।

महीने में 6 से 12 बार सिरदर्द हो तो इसे हाई
फ्रीक्वेंसी एपिसोडिक माइग्रेन कहते हैं। क्रोनिक
माइग्रेन में लगातार 15 दिन तक सिरदर्द होता है।

कई बार मरीज को तेज रोशनी दिखती
है और फिर सिर दर्द शुरू हो जाता है। अस्थाई
तौर पर दिखना भी बंद हो जाता है। यह स्टेज
माइग्रेन विद ऑरा कहलाती है।

महिलाओं में माइग्रेन की वजह हार्मोन्स
होते हैं। जब शरीर में एस्ट्रोजन का लेवल कम
होने लगता है तो सिरदर्द शुरू होता है।

अधिकतर महिलाओं को माइग्रेन 15
साल की उम्र से शुरू होता है जो मेनोपॉज
के बाद गायब हो जाता है।

अगर माइग्रेन हो तो महिलाओं को
कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स से दूर रहना चाहिए।

अगर कोई पुरुष ज्यादा वर्कआउट करता
है तो यह माइग्रेन का कारण बन सकता है।
वहीं, खाना न खाना या नींद पूरी न लेने से
भी सिरदर्द हो सकता है।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here