हर बड़ा काम करने में
मां का आशीर्वाद लेते थे पीएम

मां के पार्थिव शरीर को
खुद दी मुखाग्नि

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबा
सुबह 9:26 बजे पंचतत्व में विलीन हो गईं।
नरेंद्र मोदी ने उन्हें मुखाग्नि दी।

अंतिम सफर के दौरान प्रधानमंत्री अपनी
मां की पार्थिव देह कंधे पर लेकर गांधी नगर
स्थित घर से निकले। यात्रा के दौरान वे शव
वाहन में ही पार्थिव देह के करीब बैठे रहे।

हीराबा मोदी का शुक्रवार तड़के
3:30 बजे यूएन मेहता अस्पताल में
निधन हुआ। वे 100 साल की थीं।

हीराबेन की पार्थिव देह उसी कमरे
में रखी गई थी, जिसमें 4 दिसंबर को उन्होंने
बेटे नरेंद्र मोदी के साथ बैठकर चाय पी थी।

कोई भी बड़ा काम करने या फिर
प्रधानमंत्री बनने से पहले मां हीराबेन का
आशीर्वाद लेना नहीं भूलते थे नरेंद्र मोदी।

कोई भी बड़ा काम करने या फिर
प्रधानमंत्री बनने से पहले मां हीराबेन का
आशीर्वाद लेना नहीं भूलते थे नरेंद्र मोदी।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here