ट्रैवलिंग, फोटोग्राफी का है शौक

बिसलेरी का बिजनेस
ठुकराने वाली जंयती

जल्द ही देश की सबसे बड़ी पैकेज्ड
वाटर कंपनी बिसलेरी इंटरनेशनल टाटा की
हो जाएगी। इसके बिकने के पीछे का कारण
जयंती चौहान को माना जा रहा है। 

जयंती बिसलेरी के मालिक रमेश चौहान
की एकलौती संतान हैं। जयंती ने 24 साल की
उम्र में बिसलेरी जॉइन की थी। अभी वो
कंपनी में वाइस चेयरपर्सन हैं।

उन्होंने दिल्ली ऑफिस का कार्यभार
संभाला, जहां जयंती ने जमीनी स्तर पर
शुरुआत की। उन्होंने फैक्ट्री का रेनोवेशन
और ऑटोमेशन किया। 

2011 में उन्होंने मुंबई ऑफिस
का कार्यभार संभाला। न्यू प्रोडक्ट डेवलपमेंट
के साथ जयंती पुराने प्रोडक्ट के ऑपरेशन
को स्ट्रीमलाइन करने में भी शामिल रहीं। 

जयंती ने हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के
बाद प्रोडक्ट डेवलपमेंट की पढ़ाई के लिए लॉस
एंजिल्स के फैशन इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन एंड
मर्चेंडाइजिंग (FIDM) में एडमिशन लिया। 

फिर जयंती ने इस्टिटूटो मारंगोनी मिलान
में फैशन स्टाइलिंग को सीखा। उन्होंने लंदन
कॉलेज ऑफ फैशन से फैशन स्टाइलिंग
और फोटोग्राफी भी सीखी है। 

जयंती शौकिया फोटोग्राफर और
ट्रैवलर भी हैं। उन्होंने पिता के बिजनेस को
आगे बढ़ाने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई है।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here