मातृभाषा सर्वे 

भारत 576 भाषाएं बोलता है 

सरकार ने देशभर में 576 भाषाओं और
बोलियों का मातृभाषा सर्वेक्षण पूरा कर लिया है।
इनकी फील्ड वीडियोग्राफी भी कराई गई है। 

मंत्रालय के अनुसार, छठी पंचवर्षीय
योजना यानी 1980-85 से ही भारतीय भाषाओं
का सर्वेक्षण किया जा रहा था।

30 वर्षों से ज्यादा चले इस प्रोजेक्ट
के पहले के प्रकाशनों में LSI झारखंड का काम
पूरा कर लिया गया है। हिमाचल प्रदेश का
काम भी पूरा होने वाला है।

मातृभाषा के वास्तविक स्वरूप को बनाए
रखने के लिए राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र में एक
वेब संग्रह स्थापित करने की योजना बनाई गई है।

1961 की जनगणना के मुताबिक भारत
में 1652 भाषाएं और बोलियां थीं। पीपुल्स
लिंग्विस्टिक सर्वे ऑफ इंडिया ने 2010 में 780
भाषाओं-बोलियों की गिनती की।

इनमें से 197 भाषाएं लुप्तप्राय
और 42 भाषाओं व बोलियों का अस्तित्व खत्म
हो चुका है। मातृभाषा सर्वे अन्य भाषाओं को
संरक्षित करने का बड़ा कदम है। 

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here