पॉपुलर लौंडा नाच

नाच-नाच के चौकी तोड़ दे

नौटंकी, नाच, स्वांग, जतरा, तमाशा, गोटिपुआ
की तरह लौंडा नाच में लड़के लड़कियों
का रूप धर नाचते हैं।

लौंडा नाच लहरा से शुरू होता है, ग्रुप
डांस के बाद निर्गुण की प्रस्तुति होती है और
फिर पूरबी, बिरहा गाया जाता है।

गाने और डांस के बीच एक कॉमेडी कैरेक्टर
लबार लोगों को हंसाता है जो पूरे नाच
को आकर्षक बना देता है।

भिखारी ठाकुर के कई नाटकों में
लौंडा नाच देखने को मिलता है, उनका
बिदेशिया नाटक मशहूर है।

लौंडा नाच के कलाकार अब इस पेशे में
बहुत कम रह गये हैं, कई तो शहरों
में मजदूरी करते हैं।

रामचंद्र मांझी भिखारी ठाकुर की मंडली के अंतिम
कलाकार थे, उन्हें पद्मश्री अवॉर्ड दिया गया था। 

अभिनव ठाकुर निर्देशित हिंदी फिल्म
‘द लिपिस्टक ब्वॉय’ में लौंडा नाच के
कलाकारों का दर्द दिखाया गया है।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here