जर्मनी के पहले विश्व युद्ध हारने के बाद
काम हुआ ठप

BMW कभी प्लेन
और उसके इंजन बनाती थी 

BMW अभी अपनी रिकॉर्ड बिक्री को लेकर
चर्चा में है। 2022 में कंपनी की इंडियन मार्केट में
11 हजार से भी ज्यादा कारें बिकीं। सचिन तेंदुलकर
भी बीएमडब्ल्यू कारों के शौकीन हैं।

लग्जरी कार और सुपर बाइक्स बनाने वाली
मशहूर कंपनी BMW (बावेरियन मोटर वर्क्स)
कभी विमान और उसके इंजन बनाती थी।

फर्स्ट वर्ल्ड वार में जर्मनी की हार के बाद
BMW के विमान और उसके साजो-समान बनाने
पर रोक लगा दी गई। अगर ऐसा नहीं होता तो
आज भी  BMW वही कर रही होती।

जर्मनी के मैकेनिकल इंजीनियर कार्ल रैप ने
1916 में इसकी स्थापना की थी। इसका नाम
उस समय ‘रैप मोटरइनवर्के’हुआ करता था।

1923 में BMW ने मोटरसाइकिल
बनाने की शुरुआत की। पहली मोटरसाइकिल
का नाम रखा BMW R32।

कंपनी ने 1928 में कार बनाने की
सोची और ऑटोमोबाइल्स बिगनिंग नाम
की कंपनी को खरीदा और पहली कार BMW
3/15 के नाम से लॉन्च की।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here