स्टूडेंट्स और प्रोफेशनल्स की
संख्या सबसे अधिक

कंपकपाती ठंड में
जुटे 2000 से ज्यादा समलैंगिक

कोरोना महामारी के बाद
दिल्ली में 8 जनवरी 2023 को पहला
LGBTQ+ प्राइड मार्च निकाला गया।

कंपकपाती ठंड में 2000 से अधिक लोगों
ने इस मार्च में हिस्सा लिया।

दिल्ली में 2008 में पहली बार ऐसा
मार्च निकाला गया था।

देश की राजधानी में LGBTQ+ कम्यूनिटी
के लोग अब खुलकर सामने आ रहे हैं।

दिल्ली की इस परेड में भी बड़ी संख्या कॉलेज
स्टूडेंट और प्रोफेशनल्स शामिल हुए।

प्राइड मार्च LGBTQ+ कम्यूनिटी
के अधिकारों की मांग और जागरुकता
को लेकर निकाला जाता है।

इस तरह का पहला प्राइड मार्च 1970
में अमेरिका में निकाला गया था।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here