हजारों करोड़ की प्रॉपर्टी को लेकर है विवाद

सबसे खूबसूरत महारानी
की संपत्ति पर झगड़ा

जयपुर घराने की पूर्व राजमाता गायत्री देवी की
वसीयत से जुड़े मामले पर 11 साल लंबी प्रक्रिया
के बाद आखिरकार एक फैसला आया है।

कोर्ट ने फैसला दिया है कि वसीयत के वैध या
अवैध साबित होने तक उनके पोते-पोती गायत्री देवी
की संपत्तियों से जुड़े फैसले ले सकते हैं।

सौतेले बेटों की याचिका पर जयपुर
के अपर जिला जज ने गायत्री देवी की संपत्ति
को लेकर पोते-पोती को किसी भी तरह के निर्णय
लेने पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है।

ताजमहल, देश की संसद और राष्ट्रपति भवन
जैसी इमारतों के लिए जमीन दान करने वाले
जयपुर राजघराने में जयमहल पैलेस जैसे कई
बेशकीमती प्रॉपर्टीज को लेकर लड़ाई चल रही है।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here