कभी पति ने कहा था
'आप मुझे अफोर्ड नहीं कर पाओगी’

पूनम की कहानी से
इम्प्रेस हुईं वित्त मंत्री

प्रवासी सम्मेलन में भाग लेने आईं
NRI पूनम गुप्ता की सक्सेस स्टोरी से वित्त
मंत्री निर्मला सीतारमण बहुत इम्प्रेस हुईं। 

पूनम की स्टोरी काफी मोटिवेशनल है।
उन्होंने बगैर पूंजी के बिजनेस स्टैबलिश किया है,
जिसके कारण वो कई महिलाओं के
लिए इंस्पिरेशनल हो सकती हैं।

शुरुआती दौर में पूनम ने अपने पति से कहा
कि मेरी ही कंपनी जॉइन कर लो।

उस समय बिजनेसवुमन पूनम के पति
की सैलरी 80 लाख थी। पति ने कहा 'आप
मुझे अफोर्ड नहीं कर पाओगी।'

पूनम ने छह महीने पार्ट टाइम जॉइन करने
का ऑफर दिया और 6 महीने बाद उन्होंने पति
को 1.5 करोड़ के पैकेज पर रखा।

MBA की डिग्री होने और काफी भटकने
के बाद जब नौकरी नहीं मिली तो पूनम ने
बिजनेस करने का मन बनाया।

पूनम ने अपने बलबूते पर विदेशों से
निकले स्क्रैप पेपर को रिसाइकिल करके
दोबारा कागज बनाने के प्रोसेस को समझा
और इससे जुड़ा बिजनेस किया।

2004 में पूनम ने पीजी पेपर नाम से
स्कॉटलैंड में कंपनी रजिस्टर्ड कराई। मुनाफा
और कारोबार बढ़ता जा रहा था। 

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here