मैन्युअल से लेकर ऑटोमेटिक तक

कितने तरह की हैं हैंड गन्स

पिस्तौल शॉर्ट रेंज वाला हैंड गन है जिसमें बैरल 10
इंच से अधिक नहीं होता। इसे एक हाथ से चलाया
जा सकता है। इसमें ट्रिगर दबाना आसान होता है।

रिवॉल्वर में एक सिलेंडर होता है, जिसमें गोलियां
भरनी होती है। रिवॉल्वर पिस्तौल के मुकाबले भारी
होता है। इसमें ट्रिगर दबाना कठिन होता है।

माउजर गन एक सेमी ऑटोमेटिक पिस्तौल है।
इसमें 7.63x25 मिमी साइज का कारतूस लगाया
जाता है। यह भी एक शॉर्ट रेज हैंड गन है।

कट्‌टा एक देसी पिस्तौल है जिसे लोहे की
पाइप से बनाया जाता है। अवैध रूप से बनने वाले
इस पिस्तौल में 12 बोर की बैरल होती है।
इसकी रेंज नजदीक होती है।

तमंचा भी हैंड गन है जो एक तरह से कट्‌टे का
एडवांस्ड वर्जन है। यह 15 बोर का होता है। इसकी
गोलियां अलग से तैयार की जाती हैं।

पंचफेरा भी एक देसी पिस्तौल है जिससे पांच बुलेट
फायर की जा सकती है। उत्तर प्रदेश में हथियार
तस्कर इसका इस्तेमाल करते रहे हैं।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here