दुनिया में हर साल निकलता है
2.12 अरब टन कचरा

कचरे के बोझ तले दबी धरती

दिल्ली नगर निगम चुनावों में भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच कूड़े के पहाड़ बड़ा राजनीतिक मुद्दा बन गए हैं।

कूड़े के इन ढेरों की वजह से लोगों को बर्थ डिफेक्ट्स, स्किन प्रॉब्लम, लंग्स और
हार्ट डिजीज और कैंसर जैसी
गंभीर बीमारियां हो रही हैं।

326 एकड़ में फैला भारत का सबसे बड़ा
कूड़े का पहाड़ देवनार लैंडफिल, मुंबई में है। 

2,200 एकड़ में फैला दुनिया का सबसे बड़ा
कूड़े का पहाड़ अमेरिका के लॉस वेगास में है।

दुनिया में हर साल निकलने वाले
कचरे को ट्रकों भरकर उन्हें कतार में खड़ा करें,
तो यह लाइन इतनी लंबी होगी कि धरती
के 24 चक्कर लग जाएंगे।

पूरी दुनिया में निकलने वाले कचरे का
44 फीसदी हिस्सा सिर्फ प्लास्टिक होता है।
हर साल 80 लाख टन प्लास्टिक का कचरा
समुद्र में फेंक दिया जाता है।

1000 लैपटॉप के बराबर हर सेकेंड
ई-वेस्ट पैदा होता है। दुनिया भर में मोबाइल-
कंप्यूटर, लैपटॉप, टीवी से 500 लाख टन
इलेक्ट्रॉनिक कचरा निकलता है।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here