कैसे-कैसे बदला बैट का रूप

क्रिकेट के किस्से

ऑस्ट्रेलिया में टी-20 वर्ल्ड कप की शुरुआत
हो चुकी है। क्रिकेट प्रेमियों की नजरें
टीवी पर चिपकी रहेंगी। अभी जो बैट हैं,
वे कभी हॉकी स्टिक जैसे दिखते थे।

1624 से 1720: क्रिकेट बैट का पहला जिक्र
मैच के दौरान एक फील्डर को कैच लेने से
रोकने के लिए बल्लेबाज के उसे बैट से मारने
से हुआ था। मामला कोर्ट में पहुंचा था।

इंग्लैंड में शॉक वाइट नामक बल्लेबाज तीनों
विकेट जितनी चौड़ाई वाला मॉन्स्टर बैट लेकर
खेलने उतरा था। इस के बाद 1774 में पहली
बार बैट की चौड़ाई तय हुई।

क्रिकेट के नियमों का संचालन करने वाली
संस्था मेरिलबोन क्रिकेट क्लब ने 1835 में बैट
की लंबाई 38 इंच या 965.2 मिमी तय की।

1979 में MCC ने एल्युमिनियम बैट पर बैन
लगाते हुए ये नियम बनाया कि क्रिकेट का बैट
केवल लकड़ी का बना होना चाहिए।

अभी बैट की लंबाई 38 इंच, चौड़ाई
4.25 इंच, गहराई 2.64 इंच और वजन 1.2
से 1.4 किलोग्राम के बीच होता है। हालांकि,
वजन के लिए कोई नियम नहीं है।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here