पाक से वायरस ‘अटैक’ का खतरा

भारत से अमेरिका तक मिला पोलियो वायरस

अफगानिस्तान में गृहयुद्ध से हुए पलायन और
पाकिस्तान में बाढ़ के बाद पोलियो के मामले बढ़े।

भारत में बॉर्डर से सटे राजस्थान में
पोलियो का खतरा सबसे ज्यादा।

कोविड काल में पोलियो वैक्सीनेशन रुकने से
करोड़ों बच्चों की दवा नहीं मिली, इम्युनिटी
कमजोर हुई, वायरस को फैलने का मौका मिला।

पाकिस्तान और अफगानिस्तान को छोड़ दुनिया
के बाकी देश पोलियो से मुक्त हो चुके थे।

अब न्यूयॉर्क, लंदन, कोलकाता, इजराइल
में पोलियो के वायरस मिले हैं।

इजिप्ट में साढ़े 3 हजार साल पुरानी
ममी में पोलियो के लक्षण मिले। 

19वीं और 20वीं सदी में यूरोप-अमेरिका
में पोलियो की महामारी से हजारों मौतें हुईं।
लाखों लोग अपंग हो गए।

पोलियो का वायरस सिर्फ इंसानों में फैलता है।
शरीर से बाहर 2 महीने तक जिंदा रह सकता है।

इस बीमारी का कोई इलाज नहीं। बचाव
का सिर्फ एक तरीका है- वैक्सीन।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here