वादों पर काम करने के बजाए एजेंडा चला रहीं

प्रधानमंत्री बनने के
बाद विवादों में घिरी मेलोनी

इटली की पहली दक्षिणपंथी प्रधानमंत्री
जॉर्जिया मेलोनी पद संभालने के महज दो हफ्तों
के बाद ही विवादों में घिर गई हैं।

विवादों की वजह मेलोनी की सरकार के
फैसले हैं। मेलोनी ने पहले नाजी आर्मबैंड
(स्वास्तिक निशान वाला) पहनने वाले नेता
गलैजो बिग्नामी को मंत्री बनाया।

इसके अलावा उन्होंने कोरोना वैक्सीन
नहीं लगवाने वाले डॉक्टरों पर लगी रोक हटा दी है।
रेव जैसी पार्टियों पर रोक लगाने का
कानून पास कर दिया है। 

सरकार का तर्क है कि इस कानून से
रेव पार्टी और गैर-कानूनी डीजे म्यूजिक पार्टी
पर रोक लगाई जाएगी और आयोजकों को तीन
से छह साल की सजा दी जाएगी।

लोगों का कहना है कि महंगाई बढ़ रही है और
सरकार एनर्जी बिल कम करने जैसे वादों पर काम
करने के बजाए विभाजनकारी एजेंडा चला रही है।

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here