एम्स की नई स्टडी में खुलासा

कोरोना से घटता है
स्पर्म काउंट

कोविड-19 संक्रमण से 40 फीसदी मरीजों
का स्पर्म काउंट कम हो गया

संक्रमण के 10 हफ्ते के बाद भी 10 फीसदी
मरीजों का स्पर्म काउंट कम पाया गया

33 फीसदी मरीजों में सीमेन की मात्रा
में भी गिरावट पाई गई

87 फीसदी मरीजों के सीमेन फ्लूइड की
थिकनेस और 97 फीसदी मरीजों के सीमेन में
लाइव स्पर्म काउंट में भी कमी आई

74 फीसदी मरीजों के सीमेन में मौजूद
स्पर्म की गतिशीलता यानी स्पर्म मोटिलिटी
पर भी कोरोना का बुरा असर पड़ा

एक्सपर्ट्स ने स्पर्म बैंकों को सुझाव दिया है
कि कोविड पॉजिटिव हिस्ट्री वाले मरीजों का
स्पर्म तब तक सुरक्षित न करें, जब तक सीमेन
क्वॉलिटी नॉर्मल नहीं हो जाती है

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here