सीता-राम की पूजा से पूरी होगी मनोकामना 

विवाह पंचमी की तिथि
और शुभ मुहूर्त 

पौराणिक मान्यता के अनुसार,
भगवान राम और माता सीता 'विवाह पंचमी'
के दिन ही शादी के बंधन में बंधे। 

विवाह पंचमी 28 नवंबर को है।
अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 48 मिनट
से दोपहर 12 बजकर 30 मिनट तक है। 

विवाह पंचमी के दिन व्रत रखें, भगवान राम
और माता सीता की पूजा करें। मान्यता है कि
ऐसा करने से मनोकामना पूरी होती है। 

घर में सुख-शांति चाहते हैं तो विवाह पंचमी
के दिन रामचरितमानस का पाठ करें।
तुलसीदास ने मार्गशीर्ष मास की पंचमी को ही
रामचरितमानस की रचना पूर्ण की थी। 

शादी में बाधा आ रही है या
देर हो रही है तो विवाह पंचमी का व्रत
करें और विधिवत पूजा-पाठ करें। 

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here