टेम्प्रेचर ज्यादा हुआ तो लग सकती है आग

आंखों की रोशनी
छीन सकता है रूम हीटर

एक्सपर्ट्स के अनुसार, विंटर्स
में ब्लोअर, रूम हीटर, अंगीठी, सिगड़ी जलाने
से ठंड में भले ही राहत मिल जाए, लेकिन
यह खतरनाक भी हो सकता है।

बंद कमरे में रूम हीटर जलाने से ऑक्सीजन
की कमी होती है, कार्बन मोनोऑक्साइड बढ़
जाता है। इससे बेहोशी के अलावा एक्सट्रीम
केसेज में मौत हो सकती है।

रूम हीटर से निकलने वाली गर्म हवा
से स्किन ड्राईनेस प्रॉब्लम होती है। स्किन
सेंसेटिव है तो खुजली और रैशेज हो सकते हैं।

रूम हीटर से कमरे की हवा ड्राई होती है।
इससे आंखों में ड्राईनेस और जलन होने लगती है। 

हीटर से होने वाले नुकसान से बचने
के लिए इसे यूज करते समय कमरे के अंदर
एक बर्तन में पानी रखें। वेंटिलेशन सही रखें।

हीटर का टेम्प्रेचर ज्यादा न रखें
और कुछ समय बाद बंद कर दें।

बच्चों और बुजुर्गों के कमरे में
रूम हीटर का इस्तेमाल करने से बचें। अस्थमा
के मरीज हैं तो गैस हीटर की जगह ऑयल
हीटर का इस्तेमाल करें। 

लाइफ & स्टाइल की और
स्टोरीज के लिए क्लिक करें

Click Here